HomeNewsPfi Banned : पीएफआई पर लगा पांच साल का प्रतिबंध, केंद्र सरकार...

Pfi Banned : पीएफआई पर लगा पांच साल का प्रतिबंध, केंद्र सरकार का बड़ा फैसला

कट्टरपंथी इस्लामिक संगठन पॉपुलर डिजिटल ऑफ इंडिया (PFI) को भारत में उसकी आतंकी फिशिंग और अन्य गतिविधियों के लिए पांच साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है। गृह मंत्रालय ने इसके लिए एक अतिरिक्त अधिसूचना भी जारी की है। इस संगठन को यूएपीए के तहत प्रतिबंधित कर दिया गया है। पीएफआई के अपने सहायक संगठन रिहैब इंडिया फाउंडेशन, कैंपस ऑफिशियल ऑफ इंडिया, ऑल इंडिया इमाम काउंसिल, नेशनल कॉन्फेडरेशन ऑफ ह्यूमन राइट्स ऑर्गनाइजेशन, नेशनल विमेन सर्विस, जूनियर प्रॉम्प्ट, एम्पावर इंडिया फाउंडेशन और रिहैब फाउंडेशन (केरल) भी हैं।

पीएफआई पर पांच साल के प्रतिबंध के बाद केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ट्वीट किया। उन्होंने एक ट्वीट में लिखा है कि K-by PFI। इसके अलावा वे गृह मंत्रालय की अधिसूचना या कॉपी भी साझा करते हैं।

कट्टरपंथी इस्लामी संगठन पॉपुलर क्रिएटिव ऑफ इंडिया (पीएफआई) फोंगिंग और राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) जैसी अन्य सक्रिय सुरक्षा एजेंसियों में शामिल रहा है। उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, गुजरात, दिल्ली, महाराष्ट्र, असम और मध्य प्रदेश में 230 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया या हिरासत में लिया गया। एनआईए और पुलिस की टीमों ने मंगलवार सुबह से ही पीएफआई परिसरों पर छापेमारी शुरू कर दी थी, जो दिन भर जारी रही। सबसे ज्यादा लोग गुजरात में 80, यूपी में 57, गिरफ्तार किए गए हैं।

एनआईए को मिली एमआईएलबीएस की टिप के मुताबिक, पीएफआई पिछली कार्रवाई के बाद देश भर में प्रदर्शनों और आतंकी हमलों के जरिए कानून-व्यवस्था को बाधित करने की साजिश रच रहा था। विशेष रूप से मोहल्लों में अशांति फैलाने की तैयारी की गई थी। इसने चुनिंदा इलाकों में सुरक्षा बलों की जांच की है। असम और महाराष्ट्र में 25-25 लोगों को गिरफ्तार किया गया।
महाराष्ट्र में भी 15 लोग हिरासत में हैं। दिल्ली में 32, मध्य प्रदेश में 21 और गुजरात में 17 लोग हिरासत में हैं। इससे पहले 22 सितंबर की कार्रवाई में 16 राज्यों में 106 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। एनआईए पीएफआई से जुड़ी 19 प्राथमिकी दर्ज कर रही है।

यह भी देखे

 

RELATED ARTICLES

STAY CONNECTED

Latest News

Instagram पर लगा 32 अरब का जुर्माना, बच्चों के निजी डेटा से छेड़छाड़ का है आरोप