HomeReligiousइन 3 राशि के जातकों को शनि देव कभी नहीं करते परेशान

इन 3 राशि के जातकों को शनि देव कभी नहीं करते परेशान

ज्योतिष: ज्योतिष में शनि को क्रूर ग्रह के रूप में देखा जाता है, लेकिन शनि लोगों को उनके कर्मों के अनुसार फल देता है। सत्य का पालन करना शनि का स्वभाव है। शनि पृथ्वी पर मौजूद हर इंसान के अच्छे और बुरे कर्मों का हिसाब रखता है। इसी कारण शनिदेव को कलियुग का दंडाधिकारी या न्यायाधीश भी कहा जाता है। पृथ्वी लोक में अधिकांश लोग शनि की सदासा और गया को बुरा मानते हैं, लेकिन यह पूरी तरह से गलत है। कुछ मामलों में शनि देव साढ़े साती या ढैया में भी शुभ फल देते हैं। 

शनि मकर और कुंभ राशि का स्वामी है

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनि मकर और कुंभ राशि का स्वामी है। वर्तमान समय की बात करें तो शनि इस समय मकर राशि में गोचर कर रहा है। यानी इस समय शनि अपनी ही राशि में विराजमान हैं। ऐसा माना जाता है कि शनि वक्री होने पर शुभ फल नहीं देता है। इसलिए मकर और कुंभ राशि वालों को इस समय सावधान रहने की जरूरत है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार धनु और मीन राशि के लोगों को शनि ज्यादा परेशान नहीं करता है। इस राशि के जातकों के कार्य जब तक अच्छे होते हैं तब तक शनिदेव उन्हें शुभ फल देते हैं। इसके अलावा यदि इस राशि के सभी लोग शनि देव के नियमों का पालन करते हैं तो इस राशि के जातक शनि देव की कृपा के पात्र बन जाते हैं और शनि देव इन लोगों को मान सम्मान और धन भी प्रदान करते हैं।

ज्योतिष शास्त्र में माना जाता है कि शनि की प्रिय राशि तुला है। यदि तुला राशि के लोग दूसरों का भला करते हैं तो यह उनकी प्रगति में मदद करता है। तुला राशि के जातक अपने कर्म अच्छे रखते हैं तो शनि उन्हें अप्रत्याशित परिणाम भी देते हैं और उन्हें अपने जीवन में उच्च स्थान प्राप्त होता है।

RELATED ARTICLES

STAY CONNECTED

Latest News