HomeSportsIPL में तो नहीं मांगते आराम, फिर भारत के लिए खेलने के...

IPL में तो नहीं मांगते आराम, फिर भारत के लिए खेलने के समय क्यों? गावस्कर ने साधा सीनियर खिलाड़ियों पर निशाना

नई दिल्ली। पूर्व भारतीय बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए टीम इंडिया के बाकी सीनियर भारतीय खिलाड़ियों से पूछताछ की है। उन्होंने कहा कि खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए आराम की मांग करते हैं। लेकिन, आईपीएल के दौरान आराम क्यों नहीं मांगते? पिछले कुछ महीनों में विराट कोहली, रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह जैसे सीनियर खिलाड़ियों को विभिन्न अंतरराष्ट्रीय सीरीज के दौरान आराम दिया गया है। इससे गावस्कर नाराज हैं।

बीसीसीआई ने हाल ही में वेस्टइंडीज दौरे के लिए वनडे टीम की घोषणा की है। रोहित शर्मा, विराट कोहली, जसप्रीत बुमराह जैसे सीनियर खिलाड़ियों को भी सीरीज से आराम दिया गया है। इस दौरे में शिखर धवन वनडे टीम की कप्तानी करेंगे।

भारत के लिए खेलते हुए आराम क्यों : गावस्कर
स्पोर्ट्स टॉक पर सुनील गावस्कर ने कहा, ‘जब खिलाड़ी आईपीएल के दौरान आराम नहीं करते हैं, तो भारत के लिए खेलते समय ऐसा क्यों होता है? उन्होंने कहा, “देखिए, मैं खिलाड़ियों को (भारत के मैचों के दौरान) आराम करने के विचार से सहमत नहीं हूं। आप भारत के लिए खेल रहे हैं। आप आईपीएल के दौरान आराम नहीं करते हैं। लेकिन, भारत के लिए खेलते हुए आराम करें। मैं नहीं इससे सहमत हूँ। आराम के बारे में बात मत करो। टी 20 में एक पारी में केवल 20 ओवर होते हैं। यह आपके शरीर को प्रभावित नहीं करता है। टेस्ट मैच दिमाग और शरीर को प्रभावित करते हैं, लेकिन टी 20 क्रिकेट (खेल) में ज्यादा नहीं है संकट।

बीसीसीआई अधिक आराम की मांग करने वाले खिलाड़ियों की रेटिंग घटाएगा
गावस्कर ने आगे सुझाव दिया कि बीसीसीआई को खिलाड़ियों को आराम देने की अपनी रणनीति पर काम करना चाहिए, क्योंकि उन्होंने जोर देकर कहा कि ग्रेड ए श्रेणी में रखे गए खिलाड़ियों को अच्छा पैसा मिलता है। गावस्कर चाहते हैं कि बीसीसीआई अधिक पेशेवर बने और जो खिलाड़ी नियमित अंतराल पर आराम करना चाहते हैं उनके ग्रेड कम होने चाहिए।

पूर्व भारतीय दिग्गज ने बोर्ड से अपील करते हुए कहा, “मुझे लगता है कि बीसीसीआई को आराम की इस अवधारणा के बारे में सोचने की जरूरत है। ए ग्रेड के सभी क्रिकेटरों को काफी अच्छे अनुबंध मिले हैं। उसे हर मैच के लिए पैसे मिलते हैं। बताओ, क्या कोई कंपनी है जिसके सीईओ या एमडी को इतनी छुट्टी मिलती है? मुझे लगता है कि अगर भारतीय क्रिकेट को और अधिक पेशेवर बनना है तो एक रेखा खींचनी होगी।

RELATED ARTICLES

STAY CONNECTED

Latest News